The poster of Bhojpuri’s Rajinikanth Hit Machine Khesari Lal Yadav’s Chori Chori Chupke Chupke was showered by the fans with milk

भोजपुरी के रजनीकान्त हिट मशीन खेसारी लाल यादव की चोरी चोरी चुपके चुपके के पोस्टर को फैन्स ने दूध से नहलाया

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के रजनीकांत और प्रभास बने खेसारी लाल यादव, फैंस ने दूध से नहलाया पोस्टर

आज तक हमने सुना व देखा है कि साउथ इंडियन फ़िल्म इंडस्ट्री के कलाकारों को उनके फैंस मंदिर में पूजते हैं या दूध से पोस्टर को नहलाते है। आप ने अक्सर देख होगा कि अभिनेता रजनीकांत के फिल्म के पोस्टर को फैंस ने दूध से नहलाया है, वही कुछ समय पहले ऐसी ही दीवानगी इंडस्ट्री के बाहुबली यानी कि प्रभास के लिए भी देखी गई है। अब भोजपुरिया फैंस ने अपनी दीवानगी जाहिर की है।

हालही  में यशी फिल्म्स प्रा. लि. के बैनर तले बनी भोजपुरी सुपरस्टार खेसारी लाल यादव और अभिनेत्री सहर आफसा स्टारर भोजपुरी फिल्म ‘चोरी चोरी चुपके चुपके’ रिलीज हुई है और खेसारी के फैंस ने बिहार के स्थित छपरा के पंकज सिनेमाघर में उनकी फिल्म के पोस्टर को दूध से नहलाया है। अगर हम ये कहे कि खेसारी लाल यादव भोजपुरी फ़िल्म इंडस्ट्री के रजनीकांत बना गए है तो ये कहना गलत नहीं होगा। क्योंकि ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी भोजपुरी कलाकार को पब्लिक का इस तरफ से सपोर्ट मिला है।

फिल्म को बिहार और झारखंड के सिनेमाघरों में बंपर ओपनिंग मिली है। फिल्म को दर्शकों से अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। दर्शकों को फिल्म बेहद पसंद आ रही है। इसमें खेसारी और सहर की जोड़ी ने दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित किया है।

अगर फिल्म की कहानी की बात की जाए तो सहर आफसा और खेसारी लाल यादव के बीच जबरदस्त केमिस्ट्री देखने के लिए मिल रही है। इसमें देखने के लिए मिल रहा है कि एक्टर रिश्ते की आड़ में सहर आफसा के परिवार से (फिल्म में) पैसों की ठगी कर रहे होते हैं और जब उनके बारे में एक्ट्रेस के घर वालों को पता चलता है तो सभी का दिल टूट जाता है। वहीं खेसारी को भी बाद में सहर से प्यार का एहसास होता है। और फिर शुरू होती है रिश्तों की जोड़ तोड़ की कस्माकश।

फिल्म ‘चोरी चोरी चुपके चुपके’ की शूटिंग लंदन और बिहार में की गई है। इसके प्रोड्यूसर अभय सिन्हा, प्रशांत जम्मूवाला और निशांत उज्जवल हैं. मूवी का निर्माण यश फिल्म्स प्रा. लि. के बैनर तले किया गया है।

वहीं, अगर इसके डायरेक्टर की बात की जाए तो इसे राजनीश मिश्रा द्वारा निर्देशित किया गया है।

Print Friendly, PDF & Email

Comments are closed.