content top

Ronnie Rodrigues Presents Cinebuster Films & TV Awards 2022 To be Presented with a Gold and Diamond Studded Trophy for the first time in the history of World Cinema

Ronnie Rodrigues Presents Cinebuster Films & TV Awards 2022 To be Presented with a Gold and Diamond Studded Trophy for the first time in the history of World Cinema

Cine Buster Magazine proudly announces ‘Cine Buster Cine Awards 2022’, winners will be presented

a ‘Gold-Diamond’ trophy worth cherishing for life!

Cine Buster, a fortnightly trade magazine that promises to be not just a mirror of the Media,

Entertainment and Fashion business in India and Worldwide but will also be a sharp reflection of the society all of us are a part of. On the completion of six glorious years Cine Buster is coming up with an award show, Cine Buster Cine Awards 2022, to be held on 18th September 2022 at an exotic, picturesque place in the Middle East, Ras Al-Khaimah, United Arab Emirates.

The distinctive part of the ‘Cine Buster Cine Awards 2022’ trophy is that for the first time ever in the history of World Cinema, an unique ‘Gold-Diamond’ trophy has been crafted which’ll be worth cherishing for life. The Trophy unveiling will take place at Novotel Mumbai Juhu Beach hotel on the 6th June 2022, on the sixth anniversary of Cinebuster Magazine.

Both the events are spearheaded by Ronnie Rodrigues, Founder and Chairman of Pearl Group of Companies and Editor in Chief and Publisher of CineBuster Magazine Pvt. Ltd. “Cine Buster Cine Award 2022” will awarding stellar performances from Bollywood/Tollywood/Television fraternity.

Incidentally the said mega award ceremony is to be held at Ras Al-Khaimah in the presence of who’s who in the film industry. The idea behind holding the Cine Buster Cine Awards 2022, Overseas is to promote Indian cinema globally. Also the veterans of the film industry will be felicitated with an ‘Unique’ trophy alongside the present talented lot.

The following legendary personalities, actors, playback singers, music directors and also production houses will be felicitated with Cine Buster Cine Award 2022 for ‘Award for Outstanding Contribution towards Indian Film industry’.

Registered Office:– Dheeraj Heritage 14th, Upper Basement, S.V. Road, Santacruz (West) Mumbai-54.

Corporate Office:- Dheeraj Heritage 45 & 45A,5th Floor, S.V. Road, Santacruz (West) Mumbai-54. Landmark Nr Milan Sub-way.

Ph: 022-26607561 / 022-26607563 022-26604058.

ARTISTES, PRODUCTION HOUSES PLAYBACK SINGERS MUSIC DIRECTORS & LYRICIST

  • Shatrughan Sinha
  • Amitabh Bachchan
  • Rajinikanth
  • Dharmendra
  • Jeetendra
  • Kamal Hassan
  • Mohan Babu
  • Chiranjeev
  • Nagarjuna
  • Nandamuri Balakrishna
  • Randhir Kapoor
  • Mithun Chakraborty
  • Salim Khan
  • Javed Akhtar
  • Prem Chopra
  • Ranjeet
  • Danny Denzongpa
  • Waheeda Rehman
  • Asha Parekh
  • Sharmila Tagore
  • Babita Kapoor
  • Mumtaz
  • Tanuja
  • Hema Malini
  • Shabana Azmi
  • Jaya Bachchan
  • Rekha
  • Simi Garewal
  • Zeenat Aman
  • Helen
  • Padmini Kolhapure
  • Rajshri Productions
  • Raj Khosla Films
  • Joy Mukherjee Productions
  • RK Films
  • Ramesh Sippy Films
  • J Om Prakash
  • Manmohan Desai Productions
  • Laxmikant Prarelal
  • Kalyanji – Anandji
  • Dilip Sen – Sameer Anjaan
  • Shiv – Hari
  • Anand – Milind
  • Rajesh Roshan
  • Alka Yagnik
  • Anuradha Paudwal
  • Sadhana Sargam
  • Kumar Sanu
  • Udit Narayan
  • Kavita Krishnamurthy
  • Sonu Nigam
  • Hariharan
  • Amit Kumar
  • Anup Jalota

Ronnie Rodrigues Presents Cinebuster Films & TV Awards 2022 To be Presented with a Gold and Diamond Studded Trophy for the first time in the history of World Cinema

Read More

Paintings And Sculptures by Artists from Gujrat and Invited Artists of Maharashtra in Jehangir

Paintings And Sculptures by Artists from Gujrat and Invited Artists of Maharashtra in Jehangir

From 14th to 20th March, 2022

“Confluence of Creative Contemporaries”

An Exhibition of Paintings & Sculptures

by

Artists from Gujrat and Invited artists of Maharashtra

Participating artists in the show are: –  Vrindavan Solanki, Gagji Manpara, Umesh Kyada, Milan Desai, Ajit Chaudhary, Natu Tandel, Navneet Rathod, Kailash Desai, Sajjad Kapasi, Ajit Bhanderi, Rajesh Muliya & Hardev Jethwa alongwith Guest artists – Ravi Paranjape Pune, Babubhai Mistry – Mumbai, Prakash Bal Joshi – Mumbai and Amrut Patel – New Delhi.

VENUE:

Jehangir Art Gallery

161-B, M.G. Road

Kala Ghoda, Mumbai 400 001

Timing: 11am to 7pm

Contact:9819139559

Confluence of Creative Contemporaries –  समन्वय 

A group of 16 contemporary artists from Gujarat and Maharashtra will showcase their latest paintings and sculptures in Hirji Jehangir art gallery, M.G. Road, Kala Ghoda, Mumbai 400 001 from 14th to 20th March, 2022 between 11 am to 7 pm.  They have endeavoured to display their conceptual artworks in the form of paintings and sculptures in various mediums and techniques so as to highlight the confluence of the creative  skills and cultural as well as social vignettes of different regions of the country.  The show will be ceremoniously inaugurated on 14th March 2022 at the venue at the hands of Ms. Urmilaben Kanoria – Founder Chairperson, Kanoria Centre of arts, Ahmedabad, Mr. Vishwanath Sable – Dean Sir J.J. School of Arts Mumbai and Mr. Narendra Vichare, – Director, Shri. Vasantdada Patil College Mumbai in presence of many art lovers, collectors etc.   Various participating artists in the show are –  Vrindavan Solanki, Gagji Manpara, Umesh Kyada, Milan Desai, Ajit Chaudhary, Natu Tandel, Navneet Rathod, Kailash Desai, Sajjad Kapasi, Ajit Bhanderi, Rajesh Muliya & Hardev Jethwa alongwith Guest artists – Ravi Paranjape Pune, Babubhai Mistry – Mumbai, Prakash Bal Joshi – Mumbai and Amrut Patel – New Delhi.

Based on the Ethnic and Modern, created in Magicaly realistic to Abstract, conceptual to  purely formative paintings and sculptures are showcased by the participating artists through their artworks in different techniques and mediums.  The most prominent amongst them include the paintiings are the ones with  the message of innocence, joy and enthusiasm as well as contentment and curiosity in human mind synonymous to a  child in him by Hardev Jethva, Umesh Kyada, realms of life in the works with message of environment preservation and of growing and saving of trees and treasures of nature in the works  Kailas Desai,Navneet Rathod, life journey and cycle of joy & happiness in the sculptures of Rajesh Muliya, Mystical expressions of Gagji Monpara in Sculptures, Poetic creations of Milan Desai, Magical, Lyrical and expressive lines depicting the ethnic life of Gujarat by world acclaimed artistVrindavan Solanki, Warli culture and its social vignettes in the works of Ajit Chaudhari, mysteries of simple forms and semi flat planes to highlight the life cycle and its cultural vignettes in the works of Babubhai  Mistry, Sajjad Kapasi and Ajitbhai Banderi , subdued hues of mysterious spiritual connection with rivers in the works of Prakash Bal Joshi, Cultural treasures & heritage in the works in absolute easthetic realms of world acclaimed master Ravi Paranjape and many more.

   

Paintings And  Sculptures by Artists from Gujrat and Invited artists of Maharashtra in Jehangir

Read More

On this Chhath Puja Occasion Pawan Singh and Neelam Giri Song Dhaniya Hamar Naya Baadi Crossed 18 million Views on Youtube

On this Chhath Puja Occasion Pawan Singh and Neelam Giri  Song Dhaniya Hamar Naya Baadi  Crossed 18 million Views on Youtube

इस छठ पर भी छाया पवन सिंह और नीलम गिरी ‘धनिया हमार नया बाड़ी 18 मिलियन के पार

भोजपुरी सिनेमा के स्‍टार पवन सिंह का नया छठ गीत ‘धनिया हमार नया बाड़ी’ रिलीज होने के साथ वायरल हो गया था। इस गाने में पवन सिंह का जादू जमकर चला था। गाने में उनके साथ ऐक्‍ट्रेस नीलम गिरि नजर आईं थी। इस भक्ति गीत को फैंस काफी पसंद पसंद किया है। छठ पर्व पर पवन सिंह का ये गाना घर घर सुनाई दे रहा है। अब तक गाने को 18 मिलियन से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं।

‘धनिया हमार नया बाड़ी’ गाने को म्यूजिक कंपनी ‘वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स भोजपुरी’ यूट्यूब चैनल पर रिलीज किया गया है। ये गाना रिलीज के साथ ही लोगों की जुबां पर चढ़ गया है।

धनिया हमार नया बाड़ी’ छठ गीत के निर्माता रत्नाकर कुमार हैं, वही इस छठ गीत के बोल आजाद सिंह और श्याम देहाती ने लिखे हैं। वहीं, इसका संगीत छोटे बाबा ने तैयार किया है। इसके वीडियो डायरेक्‍टर रवि पंडित हैं। लोग अब गाने पर अपना प्‍यार बरसा रहे हैं और पवन सिंह की तारीफ कर रहे हैं।

‘धनिया हमार नया बाड़ी’ गाने को फैंस जमकर सुनकर रहे हैं। अबतक इस गाने को 18 मिलियन से भी अधिक व्यूज मिल चुके हैं। वही सांग को 2 लाख से ज्यादा लाइक्स आ चुके हैं। छठ पर्व करीब है और लोग इसकी तैयारियों में जुट हुए हैं, ऐसे में यह गाना लोगों से और भी कनेक्‍ट कर रहा है।

इस छठ पर भी छाया पवन सिंह और नीलम गिरी ‘धनिया हमार नया बाड़ी 18 मिलियन के पार

Read More

Actress Reddhima Tiwari, Shweta Sinha,Anjali Pandey, Payal Singh, Were Honored With Dadasaheb Phalke Indian Television Award

Actress Reddhima Tiwari, Shweta Sinha,Anjali Pandey, Payal Singh, Were Honored With Dadasaheb Phalke Indian Television Award

Mumbai.  The Dadasaheb Phalke Indian Television Award 2021 was organized by Filmora Media and Entertainment in Oshiwara, Andheri West Mumbai.  On the same occasion, actress Reddhima Tiwari was awarded the above award.  Along with Amarjeet Mishra, Minister of State for Maharashtra and Vice Chairman of Film City, Dhadak Kamgar Supremo Abhijeet Rane, singer Aman Trikha, musician Dilip Sen, actress Shweta Sinha, Anjali Pandey, Payal Singh, Sandeep Soparkar, including Zafar Peerzada, media persons Shailesh Patel, Priya Singh and  Many distinguished people like Sohail Fidai were honored based on their notable works in Bollywood and social sector.

Let us tell you that Reddhima Tiwari has starred in ‘Begum Jaan’ with Vidya Balan besides many TV shows like ‘Rishte se badi pyaas, do dil ek jaan, in-laws Genda Phool, Dosti Yaariyan Manmarjiyaan, Ghulam, Divya Darshan.

Let me tell you that the in-laws of Simar, the arrival of Actress Sveta Sinha made the show go green, Sveta Sinha was looking amazing in an out fit of gray color, as well as actress Anjali Pandey looked amazing in black out fit,  In the same blank Sarai, international nail artist Payal Singh, was also worth seeing on stage, Payal Singh is a witness who trained hundreds of women on their feet and today she is running her own business.

Organizer Akhilesh Singh said that the main objective of this award show is inspired by women empowerment.  Apart from Bollywood, I have taken this step in view of the unprecedented work of women in the social sector and their enthusiasm.  I feel proud to honor them.

Read More

Digital Star Satish Ray’s quirky new avatar in ‘Pandeyji Zara Sambhalke!’

Digital Star Satish Ray’s quirky new avatar in ‘Pandeyji Zara Sambhalke!’

डिजिटल स्टार सतीश रे दिखेंगे पांडेजी ज़रा संभलके‘ में एक नये अवतार में !

 आज की शहरी ज़िंदगी पूरी तरह से तनाव और अन्य जटिलताओं से परिपूर्ण होती है. ऐसे में हंसने-हंसाने की ज़रूरत पहले से कहीं ज़्यादा महसूस की जाने‌ लगी है. ऐसे में अब आपको हंसाने के लिए कॉमेडी सीरीज़  ‘पांडेजी ज़रा संभलके’ जल्द ही आपके सामने पेश होगी.

इस सीरीज़ की कहानी मनोज पांडे (सतीश रे) नामक एक ऐसे शख़्स के इर्द-गिर्द घूमती है जो अपनी गर्लफ़्रेंड दिबोशी (डॉली चावला) के साथ लिव-इन-रिलेशनशिप में रहता है. उसकी ख़्वाहिश हमेशा से ही दिबोशी से शादी करने की रही है लेकिन उसकी ज़िंदगी में एक ऐसा मोड़ आता है जब वो ख़ुद को अपनी बचपन की दोस्त इशिता (कनिका खन्ना) की तरफ़ आकर्षित पाता है जिससे फिल्म में हास्य की नई नई परिस्थितियों का निर्माण होता है. अभिनेता प्रकाश जैस इस सीरीज़ में सतीश रे के दोस्त नरेश के अहम रोल में नज़र आएंगे.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले सतीश रे द्वारा निभाए गये ईमानदार शर्मा, अल्फ़ा पांडे और बबन भोला जैसे किरदार काफ़ी लोकप्रिय साबित हुए थे. उनके शो ‘ईमानदार इंटरव्यू’ के साथ साथ भोजपुरी और बिहारी लहज़े में उनके बोलने का अंदाज़ भी देशभर के युवाओं को ख़ासा पसंद आया था. अब इस सीरीज़ में सतीश रे का फिर से एक नया अंदाज़ देखने को मिलेगा.

‘पांडे जी संभलके’ का निर्माण किया है मैत्री फिल्म प्रोडक्शन के गनु दादा और अमोल भोसले ने जबकि इस सीरीज़ को विनय शांडिल्य ने निर्देशित किया है. वहीं निखिल रायबोले और भूपेंद्रकुमार नंदन ने‌ इस सीरीज़ को मिलकर लिखा है.

कॅफे स्टुडिओज के बैनर तले बनी सीरीज ‘पांडे जी ज़रा संभलके’ 17 फरवरी से MX प्लेयर पर उपलब्ध होगी. इस सीरीज का पोस्टर वैलेंटाइन डे के एक दिन बाद जारी किया जाएगा. ठीक ऐसे वक्त पर जब पांडेजी हमेशा के लिए अपनी वैलेंटाइन की सहेली के प्रति आकर्षित हो रहे होंगे!

Read More

CORONA WARRIORS JITENDER SINGH SHUNTY & JYOTJEET FELICITATED AT ITA AWARDS 2021

CORONA WARRIORS JITENDER SINGH SHUNTY & JYOTJEET FELICITATED AT ITA AWARDS 2021

आईटीए अवार्ड्स 2021 में कोरोना वॉरियर्स  जितेंदर सिंह शंटी और ज्योतजीत हुए सम्मानित

भारत के 4 वां सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्मश्री 2021 से सम्मानित कोरोना वॉरियर्स श्री जितेन्द्र सिंह शंटी को (संस्थापक- एनजीओ शहीद भगत सिंह सेवा दल) बीते दिनों 14 फरवरी 2021 को मुंबई के प्राइम फोकस, फिल्म सिटी में इंडियन टेलीविजन अवार्ड्स 2021 में भी सम्मानित किया गया। उनके साथ साथ उनके बेटे ज्योतजीत (अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित आपदा प्रबंधन विशेषज्ञ और चेयरपर्सन-डिजास्टर मैनेजमेंट सेल, SBSSD) को भी सम्मानित किया गया। पिता-पुत्र की जोड़ी, दोनों ने  कोविड -19 महामारी के दौरान प्रतिष्ठित सेवाएं प्रदान की हैं, कोरोना वारियर्स के रूप में कोविड -19 के लिए नि: शुल्क  वैन सेवा जैसी बहुत जरूरी सेवाएं प्रदान करके, राहत और बचाव में कार्य कर रहे हैं। तथा कोरोना रोग के मृतक के लिए नि: शुल्क अंतिम संस्कार सेवाएं भी प्रदान की हैं।

अब तक वे हज़ारों की संख्या में डेड बॉडीज का अंतिम संस्कार कर चुके हैं। जो डेड बॉडीज लावारिस थी या जहाँ परिवार ख़ुदकुशी कर रहे थे या गहरे डर में थे और दाह संस्कार नहीं कर सकते थे। वे सच्चे कोरोना वॉरियर की उनकी मदद करते हैं। मानवता और राष्ट्र के लिए अपने जीवन को खतरे में डालते हैं। अब  कोविड -19 टीकाकरण अभियान के दौरान, शहीद भगत सिंह सेवा दल की एम्बुलेंसों को राष्ट्र की सेवा में नियुक्त किया गया है। मानव जाति की मानवीय सेवा के कारण शंटी और जीत को भारतीय टेलीविजन पुरस्कार 2021 में सम्मानित किया गया।

बस उम्र 27 साल, युवा और गतिशील ज्योतजीत, एम.एससी डिज़ैस्टर मैनेजमेंट (इंग्लैंड) प्रसिद्ध अंतर्राष्ट्रीय डिज़ैस्टर मैनेजमेंट विशेषज्ञ और एक सामाजिक कार्यकर्ता है। वह एनजीओ शहीद भगत सिंह सेवा दल के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के अध्यक्ष हैं।वह अपने आपदा प्रबंधन सेल के माध्यम से आपात स्थितियों और आपदाओं के दौरान आपातकालीन प्रतिक्रिया सेवाओं और मानवीय राहत का विस्तार कर रहे है। वह भारत में आपातकालीन सेवाओं की उपलब्धता, पहुंच और प्रभावशीलता को बढ़ावा देने के माध्यम से जीवन बचाने की दिशा में काम कर रहे है। कोरोना वॉरियर और सर्वाइवर, खुद ही लिड करना,  कोविड पॉजिटिव डेडबॉडी का दाह संस्कार करते हैं और  कोविड मरीजों को अस्पतालों तक पहुंचाने के लिए खुद ही एंबुलेंस चलाते हैं। वह जागरूकता पैदा करने और भारत में आपदा तैयारी की संस्कृति विकसित करने की दिशा में प्रतिबद्ध है। उन्होंने एंबुलेंस पायलट- एस्कॉर्ट सर्विस की इमरजेंसी सर्विसेज प्रोजेक्ट को सफलतापूर्वक विकसित किया है और एंबुलेंस, ब्लड डोनर्स, ऑर्गन ट्रांसप्लांट केसेस आदि से जान बचाई है। चिकित्सा सुविधाओं के लिए मरीजों की आपातकालीन प्रतिक्रिया समय को बचाने के लिए जो अक्सर समझौता किया जाता है क्योंकि एम्बुलेंस ट्रैफिक जाम में अक्सर फंस जाते हैं। इसके अलावा, #AmbulanceFirst और # ReserveLane4Ambulance उनके अभियान हैं जो आम जनता के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए एम्बुलेंस और सरकारों को पीक घंटों के दौरान एम्बुलेंस के लिए एक लेन आरक्षित करने के लिए रास्ता देते हैं। इन अभियानों ने विभिन्न डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाखों लोगों का भारी समर्थन हासिल किया है।

उनके एनजीओ शहीद भगत सिंह सेवा दल 1997 से कई मानवीय सेवाएं प्रदान कर रहे है। वह दिल्ली में 24×7 मुफ़्त एम्बुलेंस सेवा चलाते है, जो मरीजों को इलाज की सुविधा जैसे अस्पतालों में स्थानांतरित करना है। रोगियों की श्रेणी में कार्डीऐक अरेस्ट के मामले, उपचार के दौर से गुजर रहे रोगी, सड़क-दुर्घटना, आघात-मामले आदि शामिल हैं। अब तक, उन्होंने 39,450 से अधिक रोगियों को पहुंचाया और कई लोगों की जान बचाई। उनके पास हार्से-वैन का एक बेड़ा भी है जो लाशों को दाह संस्कार या दफन करने के लिए मुफ्त ले जाते हैं। इन हार्ट वैन में 54,780+ से अधिक शवों को रखा गया है। वे सभी गरिमा के साथ नि: शुल्क सेवा द्वारा गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करते हैं। उन्होंने अब तक 16,562+ शवों के नि: शुल्क दाह संस्कार में मदद की है।

गैर सरकारी संगठन के संस्थापक, शंटी का स्वैच्छिक रक्तदान के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने स्वयं 102 बार रक्तदान किया है और 150 रक्तदान शिविरों का आयोजन और ऐप प्रदान किया है। जरूरतमंदों को 22,120 यूनिट रक्त नि: शुल्क उपलब्धि को हासिल करने के लिए उनका नाम द वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, लंदन में दुनिया के पहले सिख के रूप में दर्ज है। आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में, NGO के पास एक आपदा प्रबंधन सेल है, जिसके तहत विभिन्न आपातकालीन प्रतिक्रिया टीमें एम्बुलेंस सेवा, बचाव सेवाएं, चिकित्सा देखभाल, मुफ्त की लागत-आपदा राहत और सहायता प्रदान करने वाली आपात स्थितियों में प्रभावी ढंग से प्रतिक्रिया देती हैं, मानवीय प्रतिक्रिया-शिविर स्थापित करती हैं, भोजन, सहायता और राहत, शिविर प्रबंधन, डब्ल्यूएएसएच (जल, सेनिटेशन ऐन्ड हाइजीन) सेवाएं प्रदान करना और आपदा से मरने वाले लोगों के शवों को परिवहन और अंतिम संस्कार करने की एक अनूठी सेवा। एनजीओ ने गुजरात भूकंप 2001, नेपाल भूकंप 2015, चेन्नई बाढ़ 2015, केरल बाढ़ 2018 आदि सहित विभिन्न आपदा स्थलों पर जमीनी स्तर पर काम किया है।

इन सेवाओं में और इजाफा करते हुए, श्री शंटी और श्री ज्योतजीत लोगों को प्रशीतित मोर्चरी बॉक्स प्रदान करते हैं, जहाँ उनके दाह संस्कार /दफनाने से पहले शव को थोड़े समय के लिए संरक्षित किया जाना चाहिए। श्री शंटीने 11,580+ से अधिक लाशों के लिए यह सेवा प्रदान की है।

“मैं आज यह सम्मान प्राप्त करने के लिए विनम्र हूं। हम शहीद भगत सिंह सेवा दल पिछले ढाई दशकों से मानवतावादी सेवाओं का विस्तार कर रहे हैं और जब कोविड -19 आक्रमण हुवा था, तो हमारी टीमों ने पहले से अधिक काम करने का निर्णय लिया क्योंकि अगर हमने अपनी सेवाओं को समय पर प्रदान नहीं किया होता और जबकि राष्ट्र को इसकी जरूरत थी, तो हम कभी साफ विवेक के साथ नहीं रह सकते थे। अब हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि हमारी टीमों ने अपने खून पसीने की कमाई और यहां तक कि जीवन भी दे दिया, जब हमारे एक एम्बुलेंस ड्राइवर  कोविड की मृत्यु हो गई। हमने वह सब किया जो हम कर सकते थे और यह कोई दायित्व नहीं था, लेकिन सिर्फ हमें हमारे राष्ट्र के लिए प्यार हैं। यदि कोई विकल्प दिया जाता है, तो हम अपने राष्ट्र के लिए बार-बार मर सकते हैं। मैं ऐसे लोगों का शुक्रगुजार हूं, जिन्होंने हमारी एनजीओ की कट्टर सेवाओं के मूल्य को पहचाना और समझा। ” जितेन्द्र सिंह शंटी (संस्थापक- SBSSD) ने कहा

श्री ज्योतजीत ने कहा “मेरा मानना है कि हर जीवन मायने रखता है, और इसलिए हमें खुद को आपदाओं के लिए तैयार करना चाहिए और आपदा की तैयारी पर जोर देकर सक्रिय रुख पर काम करना चाहिए क्योंकि यह समय की आवश्यकता है। अगर हम अभी से तैयारियों पर ध्यान दें तो आपदा के बाद शवों को बचाया जा सकता है। शवों पर ध्यान केंद्रित करना, मेरा मानना है कि गरिमा न केवल जीवन में बल्कि मृत्यु में भी है। प्रत्येक व्यक्ति को एक गरिमापूर्ण मृत्यु का अधिकार है क्योंकि हर व्यक्ति अपने अंतिम संस्कार को सम्मानपूर्वक संपन्न करने का हकदार है। किसी को भी उनके अंतिम संस्कार से वंचित नहीं किया जाना चाहिए। इसलिए, हम मृतकों के प्रबंधन के लिए अंतिम संस्कार सेवाओं का विस्तार कर रहे हैं, जो धर्म के विशिष्ट रीति-रिवाजों और परंपराओं का पालन करते हुए अंतिम संस्कार / दफन करते हैं। ”

Read More
content top